सिया राम के अतिशय प्यारे, अंजनिसूत मारुती दुलारे,
श्री हनुमान जी महाराज
के दासानुदास श्री राम परिवार द्वारा
पिछले अर्ध शतक से अनवरत प्रस्तुत यह

हनुमान चालीसा

बार बार सुनिए , साथ में गाइए ,
हनुमत कृपा पाइए .

[शब्द एवं धुन यहीं उपलब्ध हैं]

प्रार्थी - "भोला" [ श्री राम परिवार का एक नगण्य सदस्य ]




आज का आलेख

गुरुवार, 27 फ़रवरी 2014

Print Friendly and PDF
ओम् नमः शिवाय 
============
शिवरात्रि के परम पावन दिवस , सभी पाठकों को 
भोला कृष्णा के 
"महाबीर बिन्रवउ हनुमाना" 
की ओर से 
हार्दिक शुभ कामनाएं 
==============

वर्षों पूर्व (कदाचित १९५९ में ) 
इस दासानुदास ने ,सुप्रासिद्ध पौराणिक सूत्र 

"राम रामेति रामेति रमे रामे मनोरमे 
सहस्त्र नाम ततुल्यम राम नाम वरानने" 

से प्रेरित होकर निम्नांकित रचना की और गाया :

"राम नाम मधुबन का भ्रमर बना मन शिव का 
निशदिन सुमिरन करता "नाम" पुण्यकारी" 

कौन सा नाम और कौन है वह नामोपासक ?
नाम है  
"राम राम राम राम"
और नामोपासक है 
"शंकर शिव शम्भु", साधु संतन सुखकारी
सतत जपत  राम नाम अतिशय शुभ कारी !!

============ 
विश्वम्भर नाथ श्रीवास्तव "भोला"
  द्वारा 
१९६०-६१ में रचित 
"शंकर वन्दना" 
========
यू ट्यूब पर सुनने के लिए लिंक :
http://youtu.be/KzoJ7isIxfs

लीजिए आप यहीं सुन लीजिए 

शंकर शिव शम्भु साधु संतन सुखकारी
सतत जपत  राम नाम अतिशय शुभ कारी !!

लोचन त्रय अति विशाल , सोहे नव् चन्द्र भाल !
रुंड मुंड ब्याल माल ,जटा-गंग-धारी !!
 शंकर शिव शम्भु साधु संतन सुखकारी !!





शंकर शिव शम्भु साधु संतन सुखकारी !!

पार्वती पति सुजान, प्रमथराज,  बृषभ यान !
सुर नर मुनि सेव्यमान , त्रिविधि ताप हारी !!
शंकर शिव शम्भु साधु संतन सुखकारी !!

औघड दानी महान, काल कूट कियो पान !
आरत- हर , तुम समान को है त्रिपुरारी !?!
शंकर शिव शम्भु साधु संतन सुखकारी !!
=================
(शब्दशिल्पी एवं गायक  "भोला")
==============
पुनः शिवरात्रि की हार्दिक शुभकामनाओं के साथ 
दासानुदास निवेदक -  
विश्वम्भर नाथ श्रीवास्तव "भोला" तथा 
श्रीमती कृष्णा भोला श्रीवास्तव 
---------------------------
नोएडा (उ.प्र)) . भारत से प्रेषित 
 -----------------------------


बुधवार, 19 फ़रवरी 2014

Print Friendly and PDF

 स्वजनों के नाम, 
"भोला कृष्णा " का,  
भारत से प्रेषित , पहला सन्देश
 ==============-======

प्रियवर ,

जनवरी ११ के बाद आज "लेपटॉप" पर  बैठा हूँ ! १४ जनवरी को आँख में तीसरी सुई लगी ! २३ को भारत के लिए प्रस्थान किया , २५ को पहुंचा  ! 

बोस्टन जैसी ठंड तो न थी , लेकिन  पालम एयर पोर्ट और उसके आसपास का समग्र वायुमंडल धूल धुंआ और धुंध से लदा हुआ था ! ४० - ५० गज से अधिक दूर की सड़क की 
'नियोंन लाइट्स" भी ढिबरियों की लौ के समान टिमटिमा रहीं थीं ! हवा इतनी भारी कि सांस लेने में भी अत्यंत कठिनाई हो रही थी ! 


ऐसे में इस बार , ५ वर्ष के  अंतराल के बाद भारत आने पर भी वही हुआ जो हर बार होता है ! आशंका के अनुरूप दिल्ली पहुँचते ही खांसी और ज्वर ने जकड लिया ! 


फिर भी ,परिवार का बुज़ुर्ग होने के नाते,जिस पारिवारिक उत्सव में शामिल होने  के लिए भारत आया था , वहाँ पहुचना आवाश्य्क था , अस्तु ३, ४, ५ फरवरी को लखनऊ और ६ से १० फरवरी तक कानपुर में रहा और अब् वापस छोटे पुत्र माधव जी के पास नोएडा में रह रहा हूँ !  पूर्व निश्चित कार्यक्रम के अनुसार , प्यारे प्रभु की कृपा से , इस बार के भारतीय प्रवास के अंतिम दिवस तक यहीं रहूँगा ! 


वैसे हमसब जानते ही हैं कि "फाइनली" 
होगा तो वही जैसी हरि इच्छा होगी !  


प्रियजन , फिलहाल , इतना ही !


====================
  ५ वर्ष बाद भारत पहुंचे हम दोनों के कुछ चित्र देखिये 
 ----------------------------------------------------------



१. भारत भूमि पर उतरते ही पालम एयर पोर्ट के आगे व्हील चेयर्स पर पौत्री आकांक्षा की देख रेख में बेटी प्रार्थना के कार की प्रतीक्षा करते समय का चित्र संलग्न है !




२. एक अन्य चित्र , "पापा अम्मा , बाबा दादी , नाना नानी के भारत आगमन पर  खुशियाँ मनाते "भोला कृष्णा" और उनके प्यारे बच्चे" !


===============

अब् तो विश्वास हुआ आपको कि ५  वर्षों के लम्बे अंतराल के बाद , आपके स्नेही ,शुभाकांक्षी ,बुज़ुर्ग भोला बाबू  सपत्नीक भारत पहुँच ही गये !

प्यारे प्रभु श्री राम की अहेतुकी कृपा सब पर सदा सर्वदा बनी रहे !


=========================
निवेदक :- व्ही. एन. श्रीवास्तव "भोला"
सहयोग :- श्रीमती कृष्णा भोला श्रीवास्तव 
==========================



महावीर बिनवउँ हनुमाना ब्लॉग खोजें

यहाँ पर आप हिंदी में टाइप कर के इस ब्लॉग में खोज कर सकते हैं. उदाहरण के लिए bhola टाइप कर के 'स्पेस बार' दबाएँ, Google transliterate से वह अपने आप 'भोला' में बदल जाएगा . 'खोज' बटन क्लिक करने पर नीचे उन पोस्ट की सूची मिलेगी जिनमें 'भोला' शब्द आया है . अपने कम्प्यूटर पर हिंदी में टाइप करने के लिए आप Google Transliteration IME को डाउनलोड कर उसका उपयोग भी कर सकते हैं .